Pages

Wednesday, 8 February 2012

कर्नाटक के दो मंत्री विधानसभा में अश्लील वीडियो देखते मिले




कर्नाटक के दो मंत्री विधानसभा में अश्लील वीडियो देखते मिले

Wednesday, 08 February 2012 09:36
बंगलूर, 8 फरवरी (एजेंसी)। राज्य में भाजपा सरकार के दो मंत्रिय अश्लील वीडियो देखते हुए पाए गए। विधानसभा की बैठक के दौरान मोबाइल फोन पर  कथित तौर पर अश्लील वीडियो क्लिपिंग देखने का मामला सामने आया। भाजपा अध्यक्ष नीतिन गडकरी ने मंगलवार देर शाम राज्य के मुख्यमंत्री और पार्टी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष से बात कर घटना का ब्योरा लिया। विपक्ष ने दोनों मंत्रियों से इस्तीफा मांगा है।
 
इस मामले में जिन दो मंत्रियों के नाम सामने आए हैं, उनके नाम लक्ष्मण सावदी और सीसी पाटील है। विधानसभा की कार्यवाही कवर कर रहे एक क्षेत्रीय टीवी चैनल के वीडियो कैमरे में यह कथित रूप से रिकार्ड हो गया। लक्ष्मण सावदी कोआॅपरेशन मंत्री और सीसी पाटील महिला और बाल विकास कल्याण मंत्री हैं। विधानसभा की बैठक स्थगित हो जाने के बाद इसका फुटेज विभिन्न चैनलों पर प्रसारित किया गया। सदन में उस समय बीजापुर जिले के सिंदगी में श्रीराम सेना के संदिग्ध सदस्यों की ओर से कथित तौर पर पाकिस्तानी झंडा फहराने के मुद्दे पर चर्चा हो रही थी। कुछ क्षेत्रीय चैनलों ने भी इस फुटेज का प्रसारण किया। इसके बाद विधानसभा की कार्यवाही दिन भर के लिए स्थगित कर दी गई। इस फुटेज में सावदी को वीडियो क्लिपिंग देखते हुए देखा गया। बाद में कुछ देर तक पाटील भी उस क्लिपिंग को देखते नजर आए।
सावदी ने माना कि वह अश्लील वीडियो क्लिपिंग देख रहे थे। लेकिन उन्होंने मंत्रिमंडल से इस्तीफा देने से इनकार किया। उन्होंने कहा,'हां, यह ब्लू फिल्म जैसा है। यह बंदरगाह मंत्री कृष्णा पालेमर के मोबाइल पर था। इस क्लिपिंग में महिलाएं नृत्य कर रही हैं और चार व्यक्ति उनके साथ बलात्कार करते हैं। पालेमर ने मुझसे कहा कि ऐसी घटनाएं विदेशों में रेव पार्टियों में होती हैं। सदन में पालपे रेव पार्टी के बारे में  चर्चा हो रही थी इसलिए मैंने इसे देखा।' उन्होंने कहा,'हां मैंने वीडियो क्लिपिंग देखी। लेकिन मैंने कोई अपराध नहीं किया। यह मेरे मोबाइल पर नहीं है। केवल इसे देख लेने का मतलब अपराध करना नहीं है।'
इस बीच कर्नाटक के एक संगठन 'कर्नाटक रक्षण वैदिक' के कार्यकर्ताओं ने दोनों मंत्रियों के इस्तीफों की मांग करते हुए उनके आवासों के सामने धरना दिया। सेंट्रल डीसीपी जी रमेश ने बताया कि विभिन्न राजनीतिक दल घटना के विरोध में बुधवार को प्रदर्शन करेंगे। इसे देखते हुए विधायकों और मंत्रियों के आवासों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। विपक्षी कांग्रेस और जद (सेकु) ने दोनों मंत्रियों से इस्तीफा मांगा है।
वहीं यह मामला सामने आने के बाद भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी ने मुख्यमंत्री सदानंद गौड़ा से रात को फोन पर बात की। गडकरी के करीबी सूत्रों ने बताया कि भाजपा अध्यक्ष ने घटना के बारे में पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष केएस ईश्वरप्पा से भी चर्चा की। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव प्रचार कर रहे गडकरी ने दोनों नेताओं से घटना का ब्योरा लिया।