Pages

Friday, 13 April 2012

विरोधी कार्टून बनाने पर खफा हुईं ममता, प्रोफेसर गिरफ्तार


विरोधी कार्टून बनाने पर खफा हुईं ममता, प्रोफेसर गिरफ्तार

Friday, 13 April 2012 15:16
कोलकाता, 13 अप्रैल (एजेंसी) ममता बैनर्जी के बारे में इंटरनेट पर अपमानजनक संदेश फैलाने के आरोप में प्रोफेसर को गिरफ्तार किया गया।
जाधवपुर विश्वविद्यालय में रसायन विज्ञान के एक प्रोफेसर और उनके पड़ोसी को कथित तौर पर सोशल नेटवर्किंग साइट पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, रेल मंत्री मुकुल राय और पूर्व रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी के बारे में एक कार्टून पोस्ट करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।
कोलकाता पुलिस :दक्षिणी उपनगरीय प्रभाग: के उपायुक्त सुजॉय चंदा के मुताबिक पूर्वी जादवपुर में रहने वाले प्रोफेसर अंबिकेश महापात्रा और उनके पड़ोसी को 'प्रतिष्ठित व्यक्तियों' के बारे में अपमानजनक बातें इंटरनेट पर डालने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। उनको अदालत में पेश किया जाएगा।      
कार्टून में दिनेश त्रिवेदी को हटाकर मुकुल रॉय को रेल मंत्री बनाए जाने के बारे में मुख्यमंत्री और रेल मंत्री के बीच बातचीत को दिखाया गया है और यह संवाद सत्यजीत रे की एक मशहूर बंगाली फिल्म का है। 
गिरफ्तारी के बाद चारों ओर से विभिन्न तरह की प्रतिक्रिया सामने आ रही है। राज्य श्रम मंत्री पुर्णेंदु बोस ने पुलिस कार्रवाई को उचित ठहराया है। बोस ने कहा कि यह एक कार्टून नहीं बल्कि वास्तविक तस्वीर थी। 
उन्होंने कहा कि 'कानून अपना काम करेगा।' 
असंतुष्ट तृणमूल कांग्रेस सांसद कबीर सुमन ने गिरफ्तारी के लिए पुलिस की निंदा की है। उन्होंने कहा, ''बेबसाइट पर जो कुछ भी डाला गया वो एक ईमानदार अभिव्यक्ति है और यह स्वीकार करना मुश्किल है कि इस आधार पर किसी को गिरफ्तार किया जा सकता है।''
शिक्षाविद सुनंदा सान्याल ने भी गिरफ्तारी की निंदा की है। प्रख्यात लेखक सुनील गंगोपाध्याय ने कहा कि गिरफ्तारी सत्तारुढ़ पार्टी का तानाशाही रवैया प्रदर्शित करता है जो ठीक नहीं है।
प्रोफेसर को फौरन रिहा करने की मांग करते हुए लेखक ने कहा, ''मुझे समझ में नहीं आ रहा है कि कार्टून के आधार पर कैसे किसी को गिरफ्तार किया जा सकता है, जो कि लोकतंत्र में एक नैसर्गिक अभिव्यक्ति है।''