Pages

Wednesday, 14 March 2012

पैसे पैसे में बात कर रेलवे यात्री किराये से जुटायेगा करोड़ों रूपये का अतिरिक्त राजस्व


पैसे पैसे में बात कर रेलवे यात्री किराये से जुटायेगा करोड़ों रूपये का अतिरिक्त राजस्व 

Wednesday, 14 March 2012 19:14
नयी दिल्ली, 14 मार्च (एजेंसी) वर्ष 2012 13 के रेल बजट में यात्री किराये में की गई बढोत्तरी और यात्रियों की संख्या में होने वाली वृद्धि से रेलवे को करीब सात हजार करोड़ रूपये की अतिरिक्त आमदनी होने की उम्मीद है । 
रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी द्वारा संसद में रेल बजट पेश किये जाने के बाद रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष विनय मित्तल ने अपने परंपरागत संवाददाता सम्मेलन में एक सवाल के जवाब में बताया कि यात्री किराये में की गई बढोत्तरी के प्रस्ताव और साथ ही इस साल यात्रियों की संख्या में होने वाली करीब पांच प्रतिशत की वृद्धि से रेलवे को साढे छह हजार से सात हजार करोड़ रूपये के अतिरिक्त राजस्व की प्रप्ति होने की उम्मीद है । 
रेल मंत्री ने संसद में अपना पहला बजट पेश करते हुए सभी श्रेणी के किरायों में 2 पैसे से लेकर 30 पैसे प्रति किलोमीटर तक की वृद्धि करने और किराया संरचना में राउंड आफ प्रणाली लागू करने की घोषणा की और कहा कि अतिरिक्त आमदनी से रेलवे यात्रियों को बेहतर, स्वच्छ और सुरक्षित सेवायें देने में सहायता देगा । 
मित्तल ने आज संसद में पेश किये गये रेल बजट को को एक ''पाथ ब्रेकिंग'' और दिशा देने वाला बजट करार दिया और कहा कि इसमें संरक्षा, आधुनिकीकरण, रेल मार्ग पर क्षमता में वृद्धि और परिचालन लागत अनुपात म्रें कमी लाने पर विशेष रूप से जोर दिया गया है । 
किराये में बढोत्तरी के प्रस्ताव को जायज ठहराते हुए रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा कि बिना धन के कोई 'सिस्टम' काम नहीं करता । रेल मंत्री ने साहसिक फैसला किया है और इससे रेलवे की वित्तीय व्यवहार्यता पटरी पर आयेगी ।