Pages

Wednesday, 7 March 2012

पुतिन ने माना, रूस के राष्ट्रपति चुनाव में हुई है धांधली




पुतिन ने माना, रूस के राष्ट्रपति चुनाव में हुई है धांधली

Tuesday, 06 March 2012 21:27
मास्को, छह मार्च (एजेंसी) इसी माह की चार तारीख को हुए राष्ट्रपति चुनावों में धांधली को लेकर हो रहे प्रदर्शनों के दबाव में ब्लादिमीर पुतिन ने माना कि चुनावों में अनियमितता हुई थी। चार मार्च को हुए राष्ट्रपति चुनाव में विजयी होकर पुतिन रिकार्ड तीसरी बार रूस के राष्ट्रपति चुने गए।
दूसरी ओर विपक्ष पुतिन के खिलाफ जबरदस्त प्रदर्शन कर रहा है और उसका कहना है कि जबतक वह जीत हासिल ना कर लें प्रदर्शन करना बंद नहीं करेगा।
संवाद समिति 'रिओ नोवोस्ती' की खबर के अनुसार रूस के प्रधानमंत्री पुतिन का कहना है, '':चुनाव में: गड़बड़ियां हुई हैं। हमें सभी की पहचान करने की आवश्यकता है, उनकी पहचान कर सभी के लिए सारी बातें साफ की जाएंगी।''
इसबीच ब्लादिमीर पुतिन के राष्ट्रपति चुनाव में विजयी रहने के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए मास्को का चौक घेरने की कोशिश कर रहे प्रदर्शनकारियों के खिलाफ दंगा विरोधी पुलिस ने कड़ा रूख अपनाते हुए उन्हें वहां से खदेड़ दिया और सैकड़ों लोगों को हिरासत में ले लिया।
प्रदर्शनकारियों के खिलाफ इस कड़े रवैये के खिलाफ रोष जताते हुए विपक्ष ने संकल्प लिया है कि वह राष्ट्रपति चुनावों में हुई धांधली के खिलाफ अनिश्चितकालीन प्रदर्शन आरंभ करेगा ।
लोकप्रिय प्रदर्शनकारी नेता एलेक्सी नवालनी ने पुलिस हिरासत से रिहा होने के बाद संवाददाताओं से कहा, ''हजारों की संख्या में लोग मास्को और अन्य शहरों की सड़कों पर आ रहे हैं और वहां से हटने से इंकार कर रहे हैं।''
उन्होंने कहा, ''जब तक हमारी मांग नहीं मानी जाती हम इसे :प्रदर्शन करना: जारी रखेंगे।''
रूस की पुलिस ने पुतिन के खिलाफ प्रदर्शनकर रहे लोगों को हिरासत में लिया था जिसमें से उसने 250 लोगों को रिहा कर दिया है।
नवालनी ने कहा कि 'हमारी जीत तक' यह रैलियां चलती रहेंगी।
ब्लादिमीर पुतिन के प्रवक्ता ने राष्ट्रपति चुनावों में हुई अनियमितता के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे सैकड़ों प्रदर्शनकारियों को पुलिस द्वारा हिरासत में लिए जाने पर रूसी अधिकारियों का बचाव करते हुए कहा कि पुलिस ने पेशेवर रूख अपनाया।
पुलिस ने कल चार मार्च को हुए राष्ट्रपति चुनाव में हुई अनियमितता के खिलाफ मास्को के पुस्किन चौराहे पर जमा हो रहे प्रदर्शनकारियों के खिलाफ सख्त रवैया अपनाते हुए उनमें से सैकड़ों लोगों को हिरासत में ले लिया था।
प्रवक्ता दमित्री पेस्कोव ने सरकारी संवाद समिति रिओ नोवोस्ती से कहा कि विपक्ष की कार्रवाई दो भागों में हुई, कानूनी और गैरकानूनी। दोनों कानूनी और गैरकानूनी हिस्सों के प्रति पुलिस ने उत्तस्तरीय पेशेवर रूख अपनाया।
मास्को पुलिस के प्रवक्ता गेनाडी बोगाशेव ने आज कहा कि सोमवार को करीब 250 लोगों को गिरफ्तार किया गया और फिर रिहा कर दिया गया। ज्यादातर लोगों पर दीवानी मामलों के आरोप लगे हैं जिसमें अधिकतम दो हजार रूबल :65 डॉलर: का जुर्माना हो सकता है।