Pages

Sunday, 1 April 2012

वीके सिंह को जबरन छुट्टी पर भेज देना चाहिए: ब्रजेश मिश्र




वीके सिंह को जबरन छुट्टी पर भेज देना चाहिए: ब्रजेश मिश्र

Sunday, 01 April 2012 12:41
नयी दिल्ली, एक अप्रैल (एजेंसी) पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ब्रजेश मिश्र  चाहते हैं कि जनरल वीके सिंह को जबरन छुट्टी पर भेजा जाए।
 
थलसेना प्रमुख और सरकार के बीच जारी विवाद के बीच पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ब्रजेश मिश्र ने घूस के प्रस्ताव संबंधी आरोप पर कोई कार्रवाई नहीं करने के लिए दोनों को जिम्मेदार ठहराया लेकिन वह चाहते हैं कि जनरल वीके सिंह को जबरन छुट्टी पर भेजा जाए।
जनरल सिंह के 14 करोड़ रूपये के घूस देने के प्रस्ताव संबंधी आरोप पर टिप्पणी करते हुए उन्होंने कहा, ''मेरा नजरिया है कि मंत्री और सेना प्रमुख दोनों कोई कार्रवाई नहीं करने के लिए जिम्मेदार हैं।''
गौरतलब है कि जनरल सिंह ने आरोप लगाया था कि एक अनुबंध को मंजूरी देने के लिए उन्हें 14 करोड़ रूपये की रिश्वत देने की पेशकश की गई जिसके बारे में उन्होंने रक्षा मंत्री को सूचित किया था।
पूछे जाने पर कि क्या सेना प्रमुख को बर्खास्त या उन्हें जबरन छुट्टी पर भेजा जाना चाहिए, मिश्र ने 'डेविल्स एडवोकेट' कार्यक्रम में करन थापर से कहा, ''अगर उनकी बर्खास्तगी हुई तो कुछ और भी हो सकता है। अगर उन्हें अनिवार्य छुट्टी पर भेजा जाता है तो उन्हें बर्खास्त नहीं किया जा रहा है।''
मिश्र ने कहा, ''उनसे कहा जाना चाहिए कि आप सरकारी वेतन पर दो महीने की छुट्टियां बिताइये और फिर वेतन लीजिये और घर जाइये।''
प्रधानमंत्री को लिखे जनरल सिंह के पत्र के लीक होने के बारे में मिश्र ने सेना प्रमुख के करीबी सहयोगियों को जिम्मेदार ठहराने का प्रयास किया।
उन्होंने कहा, ''प्रधानमंत्री जिनका मैं बहुत सम्मान करता हूं, ऐसे व्यक्ति नहीं हैं जो इस तरह का कुछ लीक करें। मैं यह स्वीकार नहीं कर सकता कि प्रधानमंत्री कार्यालय में किसी नौकरशाह ने इसे बाहर दिया हो। इसलिए अगर जनरल ने इस पत्र को खुद लीक नहीं किया है तो हो सकता है कि उनके किसी दोस्त ने ऐसा किया हो।''
जनरल सिंह की थ्री कार्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल दलबीर सुहाग के खिलाफ सीबीआई जांच कराने की सिफारिश पर उन्होंने कहा कि सेना प्रमुख ऐसा करने के लिए अधिकृत नहीं हैं।