Pages

Tuesday, 28 February 2012

घड़ियाली आंसू बहाकर नाटक कर रही है कांग्रेस: माया


घड़ियाली आंसू बहाकर नाटक कर रही है कांग्रेस: माया

Monday, 27 February 2012 18:27
बरेली....बदायूं, 27 फरवरी (एजेंसी) मायावती ने आज कांग्रेस पर राज्य में अपना 'बचा-खुचा' जनाधार बचाने के लिए जनता को गुमराह करने का आरोप लगाया।
मायावती ने बरेली तथा बदायूं में आयोजित विभिन्न चुनावी जनसभाओं में कहा कि कांग्रेस राज्य में अपना 'बचा-खुचा' जनाधार बचाने के लिये जनता को गुमराह कर रही है और बटला हाउस मुठभेड़ मामले पर 'घडियाली आंसू' बहाकर तरह-तरह की 'नाटकबाजी' करने से बाज नहीं आ रही है।
उन्होंने कहा कि सभी विरोधी पार्टियां किस्म-किस्म के घोषणा पत्रों के जरिये जनता को प्रलोभन देकर गुमराह करने का प्रयास कर रही हैं, जबकि बसपा घोषणापत्र में नहीं बल्कि काम करने में विश्वास करती है और बाकी सभी पार्टियां सिर्फ दिखावा कर रही हैं।
मायावती ने मतदाताओं को होशियार करते हुए कहा ''आप विरोधी दलों के झांसे में नहीं आएं। आपकी लापरवाही और नासमझी प्रदेश में ऐसी सरकार बनवा देगी, जिससे आप का जीना मुश्किल हो जायेगा।''
उन्होंने कहा कि चुनाव के बाद प्रदेश में सपा की सरकार बनने पर गुण्डों और माफिया तत्वों का राज कायम हो जायेगा और अगर कांग्रेस की सरकार बनी तो युवा उत्तर प्रदेश से पलायन करने लगेंगे।
मायावती ने कहा कि अगर भाजपा सत्ता में आ गयी तो सांप्रदायिक ताकतें इतनी हावी हो जाएंगी कि लोग घर से नहीं निकल सकेंगे।
मुख्यमंत्री ने चुनाव आयोग द्वारा राज्य में आचार संहिता लागू होने के मद्देनजर बसपा के चुनाव निशान हाथी की जगह-जगह लगी मूर्तियों को ढकने के मामले का जिक्र करते हुए कहा, ''मेरी, मान्यवर कांशीराम जी और हाथियों की मूर्ति ढकने के आयोग के निर्देशों को देश भर के अखबारों तथा चैनलो में दिखाकर बसपा के कार्यकर्ताओं का मनोबल तोडने का प्रयास किया गया।''
बसपा अध्यक्ष ने कहा कि करीब 15-20 दिनों तक यह सब दिखाया गया, लेकिन पार्टी कार्यकर्ताओं का मनोबल गिरने के बजाय और बढ़ गया है।
''खुला हाथी लाख का तो ढका हाथी सवा लाख का'' का नारा दोहराते हुए उन्होंने कहा कि झूठे आरोप लगाकर बसपा की छवि खराब करने का प्रयास करने वाली कांग्रेस के 60 वर्षों का कार्यकाल में हजारों करोड रूपये के घोटाले कर कांग्रेसियों ने विदेशी बैंकों में काला धन जमा किया है।
उन्होंने कहा कि भाजपा ने भी केन््रद की सत्ता में रहते हुए विदेशी बैंकों में जमा भारतीयों के काला धन लाने के लिए कोई कदम नही उठाया।
मायावती ने कहा कि महंगाई को चरम सीमा तक पहुंचाकर आम आदमी का जीना मुहाल करने वाली केन््रद की संप्रग सरकार ने उनके द्वारा भेजे गये उत्तर प्रदेश विभाजन के प्रस्ताव पर ध्यान नहीं दिया। अगर सूबे का बंटवारा हो जाता तो यहां के लोगों को बेहतर भविष्य मिलता।
उन्होंने कहा ''बाकी सभी पार्टियां आरक्षण के नाम पर धोखा दे रही हैं, लेकिन हम गरीब और आर्थिक रूप से अक्षम लोगों को आरक्षण दिये जाने के पक्षधर हैं। विरासत में मिली खराब आर्थिक नीति के बावजूद हमने प्रदेश के विकास में कोई कमी नहीं होने दी।''