Pages

Sunday, 26 February 2012

अमेरिकी सांसद नाराज, इराक क्यों नहीं खरीदता अमेरिकी चावल


अमेरिकी सांसद नाराज, इराक क्यों नहीं खरीदता अमेरिकी चावल

Saturday, 25 February 2012 15:49
ह्यूस्टन, 25 फरवरी (एजेंसी) अमेरिकी सांसद इस बात को लेकर नाराज हैं कि इराक भारत के बासमती चावल खरीदता है। अमेरिका के प्रमुख चावल उत्पादक राज्यों के सांसदों ने इराक से कहा है कि उसे भारत की बजाए अमेरिकी बासमती चावल खरीदने चाहिये।  
अमेरिका के 12 सांसदों ने इस सप्ताह शुरूआत में इराक के व्यापार मंत्री खैर अल्ला बाबाकेर को पत्र लिखकर अमेरिका से चावल खरीदने को कहा था। 
टेक्सास के सांसद टेड पो ने कहा, ''हमने उन्हें आजादी दिलवायी। हमें लगता है कि उन्हें व्यापार को लेकर अमेरिका के बारे में सोचना चाहिए क्योंकि हमने न केवल उनके देश को आजादी दिलाने के लिये अरबों डालर खर्च किये बल्कि बुनियादी ढांचा का विकास भी किया।''
पत्र में कहा गया है कि 2010 और 2011 के बीच इराक को अमेरिकी चावल बिक्री में 77 प्रतिशत तक गिरावट आयी है।  हालांकि इससे पिछले वर्ष तक इराक, अमेरिकी चावल का एक प्रमुख खरीदार था।
'इराकी ग्रेन बोर्ड' ने कहा है कि भारतीय बासमती चावल का भाव कम है। इसीलिए वहां से खरीदने का निर्णय किया गया है। इराक ने 2010 के अंत से अमेरिका  से चावल नहीं खरीदा है।
इराक के व्यापार मंत्री ने कहा कि जनता बासमती चावल पसंद कर रही है और वैसी किस्म का अमेरिका उत्पादन नहीं करता।
यह पत्र ऐसे समय लिखा गया है जब अमेरिकी किसान सूखे, असामान्य गर्मी, उत्पादन लागत में वृद्धि तथा निर्यात बाजार में कमी से परेशान हैं।
जिन क्षेत्रों के सांसदों ने पत्र लिखा है, उसमें अरकंसास, कैलिफोर्निया, ल्यूसीनिया, मिसीसिपी, मिसौरी, टेक्सास तथा वर्जीनिया शामिल हैं।