Pages

Thursday, 2 February 2012

विरोध के बावजूद जारी हुई तसलीमा नसरीन की आत्मकथा

Wednesday, 01 February 2012 17:21
कोलकाता, एक फरवरी (एजेंसी) विवादास्पद लेखिका तसलीमा नसरीन की आत्मकथा ‘‘निर्वासन’’के सातवें हिस्से का आज यहां विरोधस्वरूप कोलकाता पुस्तक मेला परिसर से बाहर विमोचन किया गया।
आयोजकों ने ‘‘कट्टरपंथियों के विरोध’’ के चलते इसके विमोचन के कार्यक्रम को संचालित करने से इनकार कर दिया था।
तसलीमा ने ट्विटर पर लिखा है , ‘‘ कोलकाता पुस्तक मेला समिति ने आज कोलकात पुस्तक मेले में मेरी पुस्तक के विमोचन के कार्यक्रम को रद्द कर दिया। क्यों ? कुछ धार्मिक कट्टरपंथी ऐसा नहीं चाहते थे ।’’
पुस्तक मेले के आयोजक प्रकाशक एवं पुस्तक विक्रेता गिल्ड के सचिव सुधांग्शु डे ने प्रेट्र को बताया कि ‘‘पुस्तक विमोचन के दौरान कानून व्यवस्था की समस्या पैदा होने की आशंका ’’ के चलते मेला परिसर में प्रकाशक द्वारा आडिटोरियम की बुकिंग को रद्द कर दिया गया था। 
इससे पूर्व गिल्ड ने प्रकाशक से कट्टरपंथियों की ओर से विरोध जताए जाने के बाद पुस्तक का विमोचन नहीं करने को कहा था। 
तसलीमा की पुस्तक के प्रकाशक पीपुल्स बुक सोसायटी ने इसके बाद विरोध जताते हुए आडिटोरियम के बाहर आत्मकथा का विमोचन किया। 
इस पर तसलीमा ने लिखा , ‘‘ कोलकाता , एक प्रगतिशील शहर । सभी राजनीतिक दल और सभी संगठन कट्टरपंथियों से डरे हुए । लेकिन कब तक ? ’’
उन्होंने लिखा , ‘‘ उन्होने मुझे प्रतिबंधित कर दिया । उन्हें पुस्तक की विषय वस्तु जानने की जरूरत नहीं है ।’’