Pages

Saturday, 28 January 2012

अमेरिका ने कहा- चीन दुनिया के लिए खतरा

दावोस. अमेरिका को चीन की रणनीतियों से अंतरराष्ट्रीय कारोबार में खतरा है। चीन अपनी मुद्रा की कीमत को वास्तविक कीमत से नीचे रख रहा है। अमेरिका की चिंता की सबसे बड़ी वजह यही है। दावोस में वर्ल्ड इकॉनमिक फोरम में हिस्सा ले रहे अमेरिका के वित्त मंत्री टिमोथी गीथनर ने बात मानी है।  गीथनर ने साम्यावादी देश चीन की आर्थिक नीतियों की आलोचना करते हुए कहा, 'अपने आर्थिक ढांचे की वजह से चीन विश्व व्पापार के लिए मजबूत और अलग किस्म की चुनौती पेश कर रहा है।' 

 

फोरम में गीथनर ने कहा, 'चीन के आर्थिक तौर तरीके उसके कारोबारी साझेदारों के लिए बेहद नुकसानदेह रहे हैं। इसमें सरकारी उद्योगों के लिए सब्सिडी, ऊर्जा की अजीब-ओ-गरीब कीमत, पूंजी और जमीन से जुड़ी नीतियां शामिल हैं।'  चीन ने कारोबारी साझेदारों की कीमत पर अपने उत्पादन क्षेत्र को विकसित किया है। इसके लिए चीन ने अहम सामानों के आयात पर सब्सिडी देने और एक्सचेंज दरों को सामान्य से नीचे रखने जैसी नीति पर अमल किया है। ऐसी नीतियां न सिर्फ कारोबारी साझेदारों के लिए नुकसानदेह है बल्कि दुनिया में व्यापार के वजूद के लिए खतरा है।