Pages

Thursday, 10 January 2013

बच्चे लापता, महिलाओं की शामत!



बच्चे लापता, महिलाओं की शामत!

एक्सकैलिबर स्टीवेंस विश्वास

माहनगर कोलकाता के तिलजला तपसिया इलाके में एक के बाद एक बच्चे लापता हो रहे हैं और पुलिस उन्हें कोज पाने में नाकाम है।पिछले डेढ़ महीने में तपसिया, तिलजला और कड़ेया इलाकों में पंद्रह बच्चों के लापता होने की खबर है। इलाके में बच्चे असुरक्षित है। अभिभावक बच्चों को स्कूल भेजने में बी घबरा रहे हैं। पुलिस निष्क्रियता का नतीजा यह निकला कि इस इलाके में बच्चा चुराने के शक में अनजान महिलाएं जनआक्रोश का शिकार हो रही हैं।अब तक पांच महिलाओं पर लोगों ने जानलेवा हमला किया है।पिछले शनिवार को अपने पांच साल के बच्चे के साथ सड़क पर चल रही माजिदा खातून को लोगों ने धुन ।वृहस्पतिवार को तिलजला मोल्लापाड़ा में एक ४५ साल की बुजुर्ग महिला की इतनी पिटाई हो गई कि उसने दम तोड़ दिया।हालत इस तरह नियंत्रण से बाहर हो गयी है कि डीसी (एसईडी)चंपक भट्टाचार्य को हटाकर उनकी जगह इलाके में डीसी(यातायात २) देवव्रत दास को इलाके की जिम्मेवारी ​​दे दी गया है।​स्कूलों पर भी कड़ी निगरानी रखी जा रही है।स्कूलों के प्रशासन ने बच्चों को सिर्प अभिभावक के साथ छोड़ने का नियम भी लागू किया हुआ है।
​​
​इलाके के विदायक जावेद खान इस समस्या से बेहद परेशान है। इस समस्या से उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को अवगत करा दिया है।मुख्यमंत्री ने पुलिस प्रशासन को लापता बच्चों को पकड़ने का निर्देश दिये हैं और यह पता लगाने के लिए भी कहा है कि कहीं कोई गिरोह तो इसके पीछे नहीं है।