Pages

Tuesday, 5 June 2012

श्रोताओं के सवाल सुन भागीं ममता


श्रोताओं के सवाल सुन भागीं ममता



ममता ने कहा हम माओवादियों का समर्थन नहीं करते हैं. यहां माओवादी लोग हैंमाओवादी विद्यार्थी हैं. मैं माओवादियों और सीपीएम के सवालों के जवाब नहीं दूंगी.आप लोग एसएफआई के कैडर हैं,मैं सबको जानती हूं...
mamta_walkout2
मंच से जातीं ममता बनर्जी : धमकी ही जवाब
जनज्वार.कोलकाता में एक अंग्रेजी टीवी चैनल के कार्यक्रम में सवालों ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को श्रोताओं के सवालों ने इतना परेशान किया कि वे उनपर मोआवादी होने का आरोप लगाते हुए कार्यक्रम बीच में ही छोड़कर चली गईं.
इसके बाद ममता बनर्जी की पुलिस हरकत में आई और कार्यक्रम का आयोजन करने वाले टीवी चैनल के दफ्तर में फोन करने उन लोगों के बारे में जानकारी जुटाने लगी जिन्होंने मुख्यमंत्री से कड़े सवाल किए थे.
कार्यक्रम का आयोजन किया था अंग्रेजी टीवी चैनल सीएनएन-आईबीएन ने और कार्यक्रम का संचालन कर रही थीं सागरिका घोष.
ममता बनर्जी से सवाल पूछने के लिए चैनल बहुत से लोगों को आमंत्रित किया था. इसमें हर आयुवर्ग के लोग शामिल थे.
कार्यक्रम में शामिल एक छात्रा ने जादवपुर विश्वविद्यालय के प्रोफेसर अंबिकेश महापात्र की कार्टून मामले में हुई गिरफ्तारी से संबंधित सवाल पूछा. इस सवाल से परेशान ममता ने छात्रा को जमकर खरी-खोटी सुनाई.
सवाल सुनते ही ममता आपा खो बैठीं. उन्होंने कहा, "वह कार्टून नहीं है. मैं कार्टून को पसंद करती हूं. कार्टून एक अलग चीज है. वे माकपा से जुड़े हुए हैं.'
इस सवाल से तिलमिलाई ममता बनर्जी खुद सवाल पूछने लगीं, उन्होंने सवाल किया कि क्या यहां केवल सिर्फ जादवपुर विश्वविद्यालय के ही छात्र हैं.
ममता बनर्जी ने सवाल पूछने वाली छात्रा से पूछा कि क्या तुम माओवादी हो. इस सवाल पर छात्रा ने कहा कि नहीं वह माओवादी नहीं है.
छात्रों ने जब ममता बनर्जी से राज्य में महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध पर सवाल किया तो उन्होंने कहा कि उनके राज्य में महिलाओं के खिलाफ अपराध नहीं हैं.
इन सवालों से परेशान ममता ने कहा, "हम माओवादियों का समर्थन नहीं करते हैं. यहां माओवादी लोग हैं,माओवादी विद्यार्थी हैं. मैं माओवादियों और सीपीएम के सवालों के जवाब नहीं दूंगी."
दर्शकों की ओर इशारा करते हुए ममता ने कहा, 'आप लोग सीपीएम से जुड़े हैं. आप लोग एसएफआई के कैडर हैं. मैं सबको जानती हूं.
यह सब कहते हुए ममता बनर्जी कार्यक्रम बीच में ही छोड़कर चलीं गईं.
टीवी चैनल के लोगों ने समाचार एजंसियों को बताया ममता बनर्जी के जाने के बाद वहां कोलकाता पुलिस के स्पेशल सेल के अधिकारी पहुँचे. अधिकारियों ने उन लोगों के बारे में जानकारी मांगीजो ममता से सवाल पूछ रहे थे.
पुलिस ने टीवी चैनल के कोलकाता दफ्तर में फोन करके भी इसी तरह के सवाल पूछे. बाद में तृणमूल कांग्रेस ने चैनल से कहा कि इस मामले में आगे कोई कार्रवाई नहीं होगी.