Pages

Monday, 18 June 2012

पश्चिम बंगाल पर किश्त का वार्षिक बोझ हो जाएगा 25,000 करोड़ रुपये


पश्चिम बंगाल पर किश्त का वार्षिक बोझ हो जाएगा 25,000 करोड़ रुपये

Monday, 18 June 2012 17:09
कोलकाता, 18 जून (एजेंसी) पश्चिम बंगाल के वित्त मंत्री अमित मित्रा ने आज कहा कि अगले वित्त वर्ष तक राज्य के उच्च्पर कर्जों के मूल और सूद के भुगतान का बोझ बढ़कर 25,000 करोड़ रुपये हो जाएगा।  
विधानसभा में एक प्रश्न के उत्तर में मित्रा ने आज राज्य विधान सभा में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि चालू वित्त वर्ष के दौरान राज्य सरकार को कर्जों की किश्त के लिए 22,000 करोड़ रुपये का भुगतान करना है।
केंद्र से लिये जाने वाले कर्ज का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि चालू वित्त वर्ष के दौरान रिण सीमा 2,750 करोड़ रुपये बढ़ायी गयी है। वित्त मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने राज्य में सामाजिक बुनियादी ढांचा के विकास पर करीब 22,000 करोड़ रुपये खर्च किये हैं।
मित्रा ने कहा कि 3,982 करोड़ रुपये स्वास्थ्य तथा परिवार कल्याण, 15,726 करोड़ रुपये शिक्षा, 795 करोड़ रुपये पिछड़े वर्गों के उत्थान तथा 672 करोड़ रुपये सामाजिक कल्याण तथा पोषण पर खर्च किये गये।