Pages

Tuesday, 25 March 2014

मेरे कातिलों क�� तलाश में कई लो�� जान से जायेंगे मेरे क़त्ल में मेरा हाथ है कहीं ये किसी को पता नह

अभिनव सिन्हा और आह्वाण टीम के लिए

अभिनव जी, बहुजन राजनीति कुल मिलाकर आरक्षण बचाओं राजनीति रही है अबतक।वह
आरक्षण जो अबाध आर्थिक जनसंहार की नीतियों, निरंकुश कारपोरेट
राज,निजीकरण,ग्लोबीकरण और विनिवेश,ठेके पर नौकरी की वजह से अब सिरे से
गैरप्रासंगिक है।आरक्षण की यह राजनीति जो खुद मौकापरस्त और वर्चस्ववादी है और
बहुजनों में जाति व्यवस्था को बहाल रखने में सबस